लाखो दीवाने हो जिस चाँद के वो क्या समझेंगे एक तारे की कमी को ,, HINDI SHAYRI , BEST HINDI SHAYARI



यूँ बड़ी देर से पैमाने लिए बैठा हूँ 

कोई देखे तो समझे की पिये बैठा हूँ 

जिंदगी भर के लिए रूत कर जाने वाले 

में अभी तक तेरी तस्वीर लिए बैठा हूँ ,, 





प्यार से प्यारी कोई मजबूरी नहीं होती 

कमी अपनों की कभी पूरी नहीं होती 

दिलो का जुदा होना एक अलग बात है 

नजरो से दूर होना कोई दुरी नहीं होती ,,





देते ही क्यों ये दर्द बस हमी को 

क्या समझेंगे वो इन आँखों की नमी को 

लाखो दीवाने हो जिस चाँद के 

वो क्या समझेंगे एक तारे की कमी को ,,

 





दिल की तड़प आँखों से बया कर दूँ 

तू कहे तो जिंदगी तेरे नाम कर दूँ 

मांग तेरे दिल में जो भी है 

हालत मेरी ऐसी है की सबकुछ में 

तुझ पे कुर्बान कर दूँ ,, 






आंसू आते है आँखों में 

फिर भी लबो के हंसी लानी पड़ती है 

मोहब्बत भी क्या चीज़ है यारो 

जिससे होती है उसी से छुपानी पड़ती है ,, 


 

No comments:

Post a Comment