5 Superstitions and scientific logic behind them , 5 मान्यताए और उनसे जुड़े वैज्ञानिक कारण

 1. A cat crossing your path:

अगर बिल्ली आपका रास्ता काट जाए :



पुराने जमाने में लोग का जगह से दूसरी जगह जाने के लिए घोडा गाड़ी या बेल गाड़ी का इस्तेमाल करते थे , और गर जंगली बिल्ली उनके सामने से गुजरती थी तो उस गाड़ी को चलने वाले जानवर , यानि घोडा या बेल उस बिल्ली से डर जाते थे क्योकि बिल्ली की आँखे रात के अँधेरे में चमकती है ,जिसके कारण गाड़ी का बैलेंस बिगड़ जाता था , इसलिए अगर कोई बिल्ली सामने से गुजर जाती थी तो उस बेल गाड़ी या घोडा गाड़ी को वहीं पर रोक दिया जाता था , 

समय बीतता गया और लोग जंगली बिल्ली की जगह पालतू या गांव शहर में रहने वाली बिल्लियों के बारे में भी ऐसा सोचने लगे और धीरे धीरे मान्यता यह बन गयी की अगर बिल्ली रास्ता काट जाती है तो कोई अनहोनी हो जाएगी ,


2. HANGING LEMON AND SEVEN GREEN CHILIES IN SHOP AND BUSINESS PALACE :

दुकान या बिज़नेस के दरवाज़े पर एक नीबू और ७ हरी मिर्च से बनी माला लटकाना :





इसके पीछे की मान्यता यह है की अलक्ष्मी नमक एक देवी है जो दुकानदार और व्यापारी यानि बिज़नेस मेन के घर में BAD LUCK , यानि दुर्भाग्य लाती है , और इस देवी को तीखी और खट्टी चीज़े पसंद है इसलिए नीबू और हरी मिर्च से बनी माला दुकान और व्यापर की जग के दरवाज़े पर टाँग देते है ताकि जब अलक्ष्मी आये वो इसे पाकर खुश हो जाए और वापिस चली जाए , 

             दोस्तों ये तो थी पुराणी मान्यताए अब हम आपको बताते है इसके पीछे का वैज्ञानिक लॉजिक , दोस्तों जिस कॉटन के धागे से नीबू और मीर्च को जोड़ा जाता है वह नीबू के जूस को सोख लेता है यानि absorb कर लेता है और इसकी खुसबू के चलते कीड़े मकोड़े , मक्खी आदि तरह के जिव जंतु दुकान या व्यापर की जगह के अंदर नहीं आते ये है इसका वैज्ञानिक लॉजिक , 


3. If a mirror breaks it brings seven years bad luck:

 अगर शीशा टूट गया तो आपके सात साल बुरे बीतेंगे : 



पुराने जमाने में शीशा बहुत कम मिलता था और इसलिए ये बहुत ज्यादा महंगा भी था , साथ ही साथ ऐसी मान्यता थी की शीशे के अंदर आत्मा दिखाई देती है और जब ये शीशा टूट जाता है तो आत्मा भी उतने ही हिस्सों में टूट जाती है और ऐसी मान्यता थी की इस आत्मा जुड़ने में सात साल लगते है , इसी वजह से लोग शीशा टूटने से डरते थे और शीशे की जगह पानी में अपना चेहरा देखना पसंद करते थे , 



4 . One should take a bath after attending any funeral:

  शमशान में किसी मुर्दे को जलाने के बाद जरूर नहाना चाहिए :

ऐसी मान्यता है की जब आप किसी मुर्दे व्यक्ति के साथ जाते है यानि अंतिम यात्रा में जाते है तो आपको नहाना चाहिए नहीं तो बुरी आत्माओ का साया आप पर बना रहता है , ये तो है पुरानी मान्यताए 

इसके पीछे का वैज्ञानिक तर्क यह है की मरने के बाद शरीर सड़ना शुरू हो जाता है उसमे अलग अलग तरह के हानिकारक कीटाणु पैदा हो जाते है जो हवा में उड़कर आपके पास भी पहुंच सकते है , तो इन हानिकारक कीटाणुओं से बचने के लिए अच्छी तरह से नहाना जरूरी है ,


5 . Why Indians throw coins in holy rivers: 

चलती नदी ,तालाब में सिक्के फैकना :



हमारे भारत में नदियों को भी देवी देवताओ का स्थान दिया गया है , लोगो की ऐसी मान्यताए है की नदियों में सिक्के फैकने से देवी यानि के नदी हमे आशीर्वाद देगी और हमारे जीवन में खुशहाली आएगी ,

जबकि इसके पीछे का वैज्ञानिक कारण यह है की पुराने जमाने में सिक्के ताम्बे के बनाए जाते है जिन्हे पानी में फैकने से पानी शुद्ध होता था और ताम्बे के गुण पानी में घुल जाते थे जोकि हमारे शरीर के लिए अच्छा होता है , 

आपने देखा होगा की आज भी डॉक्टर आदि रात में ताम्बे के लोटे में रखा पानी पिने की सलाह देते है , 



तो दोस्तों ये थे 5 मान्यताए और उनसे जुड़े वैज्ञानिक कारण , अगर आपको ये पोस्ट अच्छी लगी है तो इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर कीजिए ,



No comments:

Post a Comment