लड़के लड़कियों के लिए पति -पत्नी के sale। Wife FOR Sale। Husband for sale। पत्निया बेचीं जा रही है।

Husband for Sale 

पति बेचा जा रहा है   




पति बेचा जा रहा है बाजार में एक नई दुकान खुली जहां पति बेचे जा रहे थे जैसे यह दुकान खुली महिलाओं की भीड़ बाजार की ओर दौड़ी सभी दुकान में प्रवेश करने के लिए उत्सुक थे दुकान के प्रवेश द्वार पर बोर्ड पर कुछ निर्देश और शर्ते लिखी हुई थी इस दुकान में कोई भी महिला या लड़की एक ही बार प्रवेश कर सकती है दुकान में 6 मंजिलें हैं और प्रत्येक मंदिर में पतियो  के अलग-अलग प्रकार के बारे में लिखा गया है महिला खरीदार किसी भी मंदिर से पति का चुनाव कर सकती है मगर एक बार ऊपर जाने के बाद फिर से नीचे नहीं आ सकती बाहर निकल जाने के अलावा एक खूबसूरत लड़की को दुकान में प्रवेश करने का मौका मिला था  । पहली मंजिल के दरवाजे पर लिखा था इस मंजिल के पति अच्छी नौकरी पेशा और पूजा पाठकरने वाले हैं लड़की आगे बढ़ गई दूसरी मंजिल के दरवाजे पर लिखा था इस मंजिल के पति नौकरी पेशा धर्म परायण और बच्चों से प्यार करने वाले हैं लड़की फिर आगे बढ़ गई तीसरी मंजिल पर लिखा था इस मंजिल के पति नौकरी पेशा है उपासना करने वाले हैं बच्चों से प्यार करने वाले भी हैं और खूबसूरत भी हैं इसे पढ़कर लड़की कुछ देर के लिए रुकी है लेकिन फिर सोचा चलो एक मंजिल ऊपर जाकर देखते हैं चौथी मंजिल के दरवाजे पर लिखा था इस मंजिल के पति महंती ईश्वरीय बच्चों से प्यार करने वाले सुंदर हैं और घर के कामों में मदद करने वाले भी हैं इसे पढ़कर लड़की बेहोश होने के करीब थी उसने सोचा दुनिया में ऐसे भी मर्द होते हैं वह सोचने लगी कि वह यहां से पति खरीद कर घर चली जाए लेकिन जब उसका दिल नहीं माना तब वह एक स्तर और ऊपर चली गई 

दरवाजे पर लिखा था इस मंजिल के पति मेहंदी ईश्वरीय बच्चों से प्यार करने वाले बहुत सुंदर घर के काम में मदद करने वाले और रोमांटिक भी हैं अब उस महिला का सब्र का बांध टूटने लगा वह सोचने लगी कि उसे इससे भी अच्छा पुरुष मिल सकता है भला लेकिन उसका दिल फिर भी नहीं माना वह अगली मंजिल पर चली गई यहां बोर्ड पर लिखा था आप इस मंजिल पर आने वाली 3331 भी महिला है इस मंजिल पर कोई पति नहीं है यह मंजिल बस यह सिद्ध करने के लिए बनाई गई है कि आपको बता सके कि एक महिला को संतुष्ट करना असंभव है हमारे स्टोर पर आने के लिए धन्यवाद सीढ़ियां बाहर की ओर जा ती है कृपया धैर्य रखें और आभारी रहना सीखें ।



Wife FOR Sale। Husband for sale।  पत्निया बेचीं जा रही है। 


  लड़के लड़कियों के लिए पति -पत्नी के sale।  Wife FOR Sale। Husband for sale।  पत्निया बेचीं जा रही है। 


बाजार में एक नई दुकान खुली थी जिसका चर्चा पुरे शहर में था , उसके ऊपर बहुत बड़ा बोर्ड लगा था , की अपनी मनपसंद पत्नी लो , दुकान के सामने 20 से लेकर बड़ी उम्र के लड़के और उनके माता पिता की भीड़ जमा हुयी 

जैसे तैसे करके एक लड़के को अपने माता पिता के साथ दुकान के अंदर जाने का मौका मिला , 

दुकान मे अंदर जाते ही कुछ शर्ते लिखी थी जहा लिखा था की मंजिल  पर आप एक ही बार ऊपर जा सकते है । । 


हर मंजिल पर अलग अलग तरह की पत्निया मिलेंगी 

मंजिल पर से आप वापिस नहीं आ सकते हर मंजिल से बाहर निकलने का रास्ता अलग है 

लड़के के साथ साथ उसके माता पिता का संतुष्ट होना अनिवार्य है 


लड़के ने ये सब शर्ते पड़ी और पहली मंजिल पर चढ़ना शुरू किया 


पहली मंजिल पर लिखा था , यहाँ बहुत ही सुन्दर पत्निया मिलती है लेकिन दहेज नहीं मिलेगा , बहुत सुन्दर का नाम देख कर लड़का अपने माँ बाप की और देखने लगा , लड़के का पिता बोला , सिर्फ खाली बहु का क्या करेंगे तुम्हे जो पढ़ाया लिखाया उसका क्या ? चलो आगे देखते है 

अगली मंजिल पर लिखा था यहाँ सुन्दर और नौकरी करने वाली पत्निया मिलती है ,  सुन्दर और नौकरी का नाम सुनकर लड़का और उसका बाप इतने मे लड़के की माँ बोली , हाँ अब मै ही उस महारानी को बना कर खिलाऊंगी , मुझसे नहीं होगा चलो चलो आगे बढ़ो 


तीसरी मंजिल पर पहुंचे तो सामने पढ़ा की यहाँ की पत्निया खूब दहेज के साथ आएंगी , घर का काम काज भी करेंगी लेकिन सुन्दर नहीं है , पहली दोनों शर्ते पढ़ कर माता पिता खुश , दहेज भी मिल रहा है , घर का काम काज भी करेंगी।  दोनों लड़के को समझाने लगे देखो बेटा संसार मे दो ही रंग होते है काला और गौरा , इतने मे लड़का बोला चलो आगे बढ़ो ,चौथी मंजिल पर लिखा था यह पर सुन्दर , बहुत दहेज देने वाली और घर का काम काज करने वाली पत्नी मिलती है लेकिन उनकी उम्र थोड़ी ज्यादा है माँ बाप कुछ बोलते इतने मे लड़का बोला आगे चलो 


अब 5 वी मंजिल पर पहुंचे तो पढ़ा की यहाँ मिलने वाली पत्निया , सुन्दर भी है , दहेज भी देंगी , घर का काम काज भी करेंगी लेकिन उनकी थोड़ी लम्बाई कम है , यह पढ़ते ही माँ बोल पड़ी समाज क्या कहेगा , दहेज के लिए बेटा बेच दिया 


जैसे ही वो तीनो छठी मंजिल पर पहुंचे वहां लिखा था आइये श्रीमान आप यहां तक पहुंचने वाले 3991 वे है , बाहर जाने का रास्ता सामने है कृपया घर जाकर सोचे की आपको वास्तव मै क्या चाहिए।  आपने समाज मे मिलने वाली हर लड़की को reject किया है  अगर आपके घर मे बेटी है तो आप खुद सोचिये की क्या आप किसी भी परिवार की हर ख्वाहिश पूरी कर पाएंगे।  

यह एक हास्य और शिक्षा पर्द कहानी है , अगर इस कहानी से किसी को दुःख पंहुचा हो तो हम माफ़ी चाहते है 






No comments:

Post a Comment