कल और आज

कल और आज



कल - लोग सुबह पूजा पाठ के लिए उठते थे ,
आज -  चाय और कॉफी के लिए

कल - लोग सुबह रामायण और गीता पढ़ा करते थे ,
आज - अख़बार

कल - लोग रोटी के लिए मेहनत करते थे
आज - दौलत के लिए

कल - लोग हवन में व्यस्त रहते थे ,
आज - फिल्म और गानो में

कल - औलाद माँ बाप का कहना मानती थी ,
आज - माँ बाप औलाद का कहना मानते है ,

Comments