एक माँ ने अपनी १ साल की छोटी बच्ची को एक बंद कमरे में छोड़ दिया और वहा से चली गयी १० साल बाद आयी वापिस तो जो उसने देखा वो देखकर चौक गयी ,

एक माँ ने अपनी १ साल की छोटी बच्ची को एक बंद कमरे में छोड़ दिया और वहा से चली गयी १० साल बाद आयी वापिस तो जो उसने देखा वो देखकर चौक गयी ,

ये तो आप सब जानते है की जब एक बच्चा जन्म लेता है उसे सबसे ज्यादा जरूरत उसकी माँ की होती है , और सिर्फ इसी दिन नहीं आने वाले कुछ सालो तक पैदा होने वाले बच्चे को सबसे ज्यादा जरूरत उसकी माँ की होती है , लेकिन कुछ बच्चे ऐसे भी होते है जिन्हे दुर्भाग्य वश माँ का प्यार नहीं मिल पता वही इस दुनिया में कुछ माँ ऐसी भी होती है बच्चे पैदा तो कर लेती है परन्तु उन्ही प्यार नहीं करती और उन्हें मरने के लिए छोड़ देती है ,
ठीक ऐसी एक सच्ची  कहानी हम आपको बताने जा रहे है ,
ये कहानी है रूस के यारोस्लाव शहर की , यह के लोग आज भी इस बात को नहीं भुला पाते की उनके शहर में एक ऐसी दर्द भरी दुर्घटना हुयी , आज  भी यह के लोग इस घटना के बारे में जानकर डर जाते है सहम जाते है ,

कहानी शुरू होती है जब एक माता अपनी एक साल की बच्ची को अपने बड़े घर में अकेला छोड़ कर चली गयी , फिर २० साल बाद वो वापिस उस घर पर आयी और जो उसको उस घर पर मिला वो उसे देखकर चौक गयी ,

लेकिन इससे पहले जब वो माँ अपनी बेटी को उसे बड़े मकान में बिलकुल अकेला छोड़कर चली गयी तो उस घर के पास से आदमी गुजरा जिसने एक बच्चे के रोने की आवाज़ सुनी लेकिन बच्चे के रोने की आवाज़ को वह एक आम बात समझ कर आगे बढ़ गया , लेकिन उस आदमी ने यह आवाज़ दूसरे दिन , तीसरे दिन , छोटे दिन भी सुनी इसके बाद उसने उस घर की निगरानी की तो उसने देखा की घर के अंदर बाकि कोई हलचल नहीं है ना ही कभी लाइट जलती देखि , और ना की किसी को आते जाते देखा , यह सब देख कर वो चौक गया और उसने पुलिस का खबर की ,
जिस दिन पुलिस आयी उस दिन छठा दिन था , जब पुलिस उस घर पर पहुंची तो उसे कुछ नहीं मिला , अंत में वह एक कमरे में पहुंची तो वहा उसे टावल में लिपटी एक एक साल की बच्ची मिली , जिसकी हालत बहुत नाजुक थी ,, पुलिस ने इस बच्ची को हॉस्पिटल में भर्ती कराया वहा पता लगा की इस बच्ची ने पिछले ६ दिन से कुछ नहीं खाया , हॉस्पिटल में उस बच्ची का इलाज हुआ , इस केस की जाँच की गयी तो इसके परिवार के साथ ही इस बच्ची के बारे में पता चला , इस बच्ची का नाम लिज़ा छाया था , पुलिस ने बहुत कोशिस की लेकिन वो इस बच्ची लिज़ा के माता पिता तक नहीं पहुंच पायी , उसी हॉस्पिटल में एक ऐना नाम की औरत आयी हुयी थी जो इसी हॉस्पिटल में अपने बच्चे का इलाज करा रही थी ,
उस हॉस्पिटल की एक नर्स ने लिज़ा की कहानी ऐना को बताई तो वो लिज़ा के लिया खाना , खिलोने और कपडे लेकर आयी और उसे दिए धीरे धीरे वो लिज़ा को अपने बेटे की तरह ही प्यार करने लगी और उसकी देख भाल भी करने लगी ,
कुछ दिनों बाद लिज़ा ठीक हो गयी और हॉस्पिटल  ने उसे एक अनाथालय को दे दिया , लेकिन जब ये बाद ऐना को पता लगी तो वो अनाथालय गयी और वहा सभी कागजी करवाई पूरी करके लिज़ा को अपने साथ घर ले आयी ,


ऐना अपने बेटे और लिज़ा दोनों को बराबर प्यार करती थी , धीरे धीरे लिज़ा बड़ी हुयी स्कूल जाने लगी , और आज लिज़ा एक मॉडल है जोकि काफी सरे कॉन्ट्रैक्ट साइन कर चुकी है , खूब फेमस है ,
इसके बाद ये साडी बाते जब लिज़ा की असली माँ को पता लगी तो वो उससे मिलने आयी तो लिज़ा ने उससे मिलने से मना कर दिया और खा की दुबारा ऐसी कोशिश  ना करे में उनकी सकल तक नहीं देखना चाहती , 

No comments:

Post a Comment