ये अकेला पौधा आपके लाखो रूपये बचा सकता है

 नमस्कार दोस्तों ..

आज हम आपको एक बहुत ही अजीबोगरीब पौधे के बारे में बताएंगे जिसके बारे में बहुत कम लोग जानते है इसके नाम के साथ साथ इसके फायदे भी कमाल के है , 





इस पौधे का नाम है पत्थरचट्टा जी हाँ है न अजीब सा नाम , अब आपको बताते है की इसे पत्थरचट्टा क्यों कहते है अगर आप छोटे छोटे पत्थर के तड़के को इसके पत्ते पर घिसेंगे तो वह बहुत जल्दी घिस जाता है इसीलिए इसे पथरी की दवाई के रूप में भी बहुत ज्यादा काम में लाया जाता है , क्योकि यह किसी भी तरह की पथरी को ख़तम करने का गुण रखता है , इसी लिए इसका नाम पत्थरचट्टा है , 

आइये सबसे पहले आपको इसके कुछ ओषधीय गुणों के बारे में बताते है : पथरचट्टा का ये पौधा कई तरह के प्राकर्तिक और औषधीय गुणों से भरपूर है ,इसी कारण आंतरिक और बाहरी दोनों तरीको से इस्तेमाल किया जाता है , 

जैसे की अगर किसी को पथरी है तो भी पत्थरचटा का प्रयोग किया जाता है , और अगर किसी को बाहरी जैसे फोड़े , फुंसी , घाव हो जाता है तो भी पथरचट्टा का प्रयोग किया जाता है , 



पथरचट्टा के कुछ मुख्य फायदे : 


1.पेट दर्द में फायदेमंद :

 अगर आप इसके जूस को ले इसमें थोड़ा सा सोंठ मिला ले और इसे गरम पानी से ले कुछ ही देर में आपका पेट दर्द बंद हो जाएगा , 


2. पित्ताशय की पथरी में देता है फायदा :


3. घाव और भरी चोट को बहुत जल्दी ठीक करता है :


4. मूत्र मार्ग की पथरी को बहार निकल देता है :


5. पेशाब की जलन में फायदेमंद :


6. गठिया में लाभदायक :


7. शरीर को ठंडक देता है :


8. पेट के अल्सर को दूर करता है :


9. बालो की रुसी को दूर करता है 


10. सर दर्द को ठीक करता है :


11. कान दर्द में है फायदेमंद 


12. आँखों की रौशनी बढ़ाने में सक्षम 


13. खुनी दस्तो में देता है राहत 


14. औरतो की ल्यूकेमिया की बीमारी में फायदेमंद 


15. उक्त रक्तचाप को ठीक करता है 




tags :


patharchatta for kidney stone in hindi

patharchatta plant benefits in english

patharchatta side effects in english

patharchatta flower

ajuba plant benefits

patharchatta patanjali

patharchatta juice

patharchatta medicine patanjali

patharchatta plant name in marathi

pashanbhed ke fayde

patharchatta plant flower

ajuba ka paudha

patharchatta ras

picture of patharchatta plant


Guided Search Filters



Comments